Writer Kaise Bane

[पूरी प्रक्रिया] Writer कैसे बने – कंटेंट राइटर बनने के बेस्ट टिप्स, सैलरी

Writer Kaise Bane: आजकल, कंटेंट राइटिंग बहुत ही लोकप्रिय हो गई है और इस क्षेत्र में कई शानदार करियर विकल्प मौजूद हैं। अगर आप एक कंटेंट राइटर बनना चाहते हैं और आपको यह समझ में नहीं आ रहा है कि आखिरी रूप से आपको कैसे एक लेखक बनाया जाए, तो आप बिल्कुल सही जगह पर हैं।

न्यूज़पेपर लेखन से लेकर मीडिया के अन्य क्षेत्रों तक, हर जगह राइटर की महत्वपूर्ण आवश्यकता होती है। अगर आप एक अच्छे राइटर हैं, तो आपको राइटर के रूप में अच्छी नौकरी मिल सकती है या फिर आप घर बैठे पार्ट-टाइम में कंटेंट राइटिंग करके आसानी से अच्छी इनकम कर सकते हैं।

आजकल, कंटेंट राइटिंग के माध्यम से आप जैसे चाहें वैसे पैसे कमा सकते हैं। हम आपको राइटर बनने के बारे में गाइड के संबंध में जानकारी प्रदान करेंगे, जिसे आप ध्यान से पढ़ें और कोई भी जानकारी छूटने नहीं दें।

कंटेंट राइटिंग क्या है

“कंटेंट” का मतलब है सामग्री और “राइटिंग” का मतलब है लेखन। इसलिए, कंटेंट राइटिंग से तात्पर्य है सामग्री का लेखन। आप किसी भी भाषा में और किसी भी जानकारी को लेख सकते हैं और इसे कंटेंट राइटिंग कहा जाता है।

यदि मैं आपसे किसी राजनीतिक पार्टी के नेता के बारे में कुछ लिखने को कहता हूँ, तो जब आप उसे लिखेंगे तो इसे अंग्रेजी में “कंटेंट राइटिंग” ही कहेंगे। सामान्य शब्दों में, हम अपने विचारों के आधार पर किसी भी विषय पर अपनी भाषा में जानकारी को लिखते हैं और उसे कंटेंट राइटिंग कहते हैं।

कंटेंट राइटर कौन होते हैं

“कंटेंट राइटर” एक ऐसा व्यक्ति होता है जो किसी भी विषय पर अपनी भाषा में साधारण शब्दों में सामग्री लिखने का काम करता है, और इसे अंग्रेजी में “कंटेंट राइटर” कहा जाता है। किसी भी विषय पर, यदि आप कुछ भी अपनी भाषा में लिख रहे हैं, तो आपको कंटेंट राइटर कहा जाएगा।

इस लेख को आप अभी पढ़ रहे हैं, और इसे किसी कंटेंट राइटर ने ही लिखा है, जो अपनी भाषा में किसी भी विषय पर लिखने की कला रखता है। कंटेंट राइटर किसी भी भाषा में लिख सकता है, या फिर वह खुद जिस भी भाषा में एक्सपर्ट हो, उस भाषा में लिख सकता है।

राइटर बनने के लिए जरूरी चीजें

राइटर बनने के लिए आपको कुछ महत्वपूर्ण चीजें चाहिए होंगी, और इस विषय में हमने नीचे दिए गए पॉइंट्स के माध्यम से आपको जानकारी प्रदान की है।

1. आपको किसी विषय में एक्सपर्ट होना चाहिए।
2. कंटेंट राइटिंग के लिए आपके पास लैपटॉप या स्मार्टफोन होना चाहिए।
3. कंटेंट राइटिंग के दौरान आपको इंटरनेट कनेक्शन की भी जरूरत होगी।
4. आप जिस भाषा में राइटिंग करना चाहते हैं, आपको उस भाषा का अच्छा ज्ञान होना चाहिए।
5. अगर आपके पास मास कम्युनिकेशन की डिग्री है, तो और भी अच्छा है।
6. आपको कंप्यूटर के बारे में बेसिक जानकारी होनी चाहिए।
7. आपको कंटेंट राइटिंग करने का थोड़ा-सा अनुभव होना चाहिए।
8. आपके अंदर चीजों को आसान शब्दों में समझाने की क्षमता होनी चाहिए।

राइटर कैसे बने

राइटर बनने के लिए आपके पास डिग्री की ज़रुरत नहीं होती, बल्कि हुनर की ज़रुरत होती है। आप जिस भी भाषा में राइटिंग करना चाहते हैं, उस भाषा में आपकी अच्छी पकड़ होनी चाहिए और आपको आसान शब्दों में लोगों को जानकारी समझाने का तरीका मालूम होना चाहिए। बस इस तरह, आप कंटेंट राइटर बन सकते हैं।

कंटेंट राइटर बनने के लिए हमें कुछ और चीजों को भी फॉलो करना होगा, जिसके बारे में हम आपको आगे विस्तार से जानकारी देने वाले हैं। आप नीचे दी गई जानकारी को ध्यान से पढ़ें और हमारे दिए गए निर्देशों का पालन करें, तभी आप कंटेंट राइटर बन सकते हैं।

1. अपनी भाषा डिसाइड करे

राइटर बनने के लिए आपको किसी न किसी भाषा में एक्सपर्ट होना होगा, इसलिए आपको राइटर बनने से पहले जिस भी भाषा में राइटिंग करना चाहते हैं, उसमें एक्सपर्ट बनने की कोशिश करनी चाहिए। अगर आप अपनी मदर लैंग्वेज में राइटिंग करना चाहते हैं, तो आपको उसमें एक्सपर्ट बनने का प्रयास करना चाहिए। यदि आप इंग्लिश और हिंदी भाषा में राइटिंग करना चाहते हैं, तो आपको इन दोनों भाषाओं में एक्सपर्ट होने का प्रयास करना चाहिए या फिर आप चाहें तो इन में से किसी एक भाषा में भी एक्सपर्ट बनकर कंटेंट राइटिंग की शुरुआत कर सकते हैं।

2. राइटिंग की कैटेगरी चुने

राइटिंग क्षेत्र में अपने इंटरेस्ट के आधार पर कैटेगरी का चयन करना बहुत महत्वपूर्ण है। यह आपको कंटेंट राइटिंग को सीखने और मास्टर करने में सहायक होता है। आजकल अनेक प्रकार की कैटेगरियाँ हैं जिन पर कंटेंट राइटिंग की जा रही है, इसलिए आपको अपने रुचि और पसंद के अनुसार कैटेगरी का चयन करना चाहिए। इससे आपको उस क्षेत्र में मास्टरी हासिल करने में सहायता मिलेगी, और आप आगे बढ़कर उस क्षेत्र में एक्सपर्ट बन सकते हैं।

3. अब अपना ग्रामर मजबूत करें

राइटिंग क्षेत्र में ग्रामर की गलतियों से निपटना बहुत महत्वपूर्ण है। इसलिए आपको प्रारंभिक चरण में ही अपने ग्रामर को मजबूत करना चाहिए। चाहे आप किसी भी भाषा में राइटिंग कर रहे हों, आपको उस भाषा के ग्रामर को मजबूत करने के लिए संबंधित पुस्तकें पढ़नी चाहिए और नियमित अभ्यास करना चाहिए। इससे आपकी भाषा के ग्रामर में सुधार होगा और आप राइटिंग में किसी भी प्रकार की ग्रामरियन मिस्टेक से बच सकेंगे।

4. अपने कैटेगरी के ब्लॉग आर्टिकल्स पढ़े

जिस कैटेगरी को आपने राइटिंग करने का चयन किया है, उससे संबंधित इंटरनेट पर रोजाना ब्लॉग आर्टिकल पढ़ना आवश्यक है। जब आप ब्लॉग आर्टिकल पढ़ेंगे, तो आपको राइटिंग कौशल के बारे में समझ मिलेगी और आप आर्टिकल की फॉर्मेटिंग करना भी सीखेंगे। आपको इसकी आदत डालने की आवश्यकता है ताकि आप आगे चलकर इस क्षेत्र में माहिर हो सकें।

5. अब थोड़ा बहुत लिखने की कोशिश करे

जब आप अपने कैटेगरी के ब्लॉग आर्टिकल्स पढ़ेंगे, और थोड़ी बहुत नॉलेज हासिल हो जाएगी और आप आर्टिकल की फॉर्मेटिंग को अच्छे से समझेंगे, तो आपको खुद भी थोड़ा लिखने का प्रयास करना चाहिए। जो भी ब्लॉग आर्टिकल आप पढ़ रहे हैं, उसे एक बार ध्यान से पढ़ने के बाद अपने आप से लिखने की कोशिश करें।

6. कभी भी कॉपी पेस्ट ना करे

राइटर बनने के दौरान कॉपी पेस्ट करने से बचें, क्योंकि यह आपकी राइटिंग की गुणवत्ता को कम कर सकता है और आपको अच्छे राइटर बनने में बाधा डाल सकता है। इस समय में, लोग आसानी से कॉपी पेस्ट किए गए कंटेंट को पहचान लेते हैं, और यह आपके करियर को भारी नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए, जब भी आप राइटिंग करें, स्वयं के शब्दों में लिखने का प्रयास करें ताकि आपका आर्टिकल सपूर्णतः अनूठा हो।

7. कोई भी पैराग्राफ बड़ा ना लिखें

कंटेंट राइटिंग करते समय, छोटे पैराग्राफों का उपयोग करें। बड़े पैराग्राफों के लेखन से बचें, क्योंकि यह पढ़ने में अधिक कठिन हो सकता है। आपके लेख को पढ़ने वाले उपयोगकर्ता भी इससे खुद को व्यस्त पाएंगे। चार से पांच लाइनों के सरल पैराग्राफ का उपयोग करें ताकि आपके लेख को सहजता से समझा जा सके।

8. आर्टिकल में हेडिंग का इस्तेमाल करे

कंटेंट राइटिंग के दौरान, अपने टॉपिक से संबंधित उपयुक्त हेडिंग का प्रयोग करें। यदि आप किसी विशेष विषय पर लेख रहे हैं, तो सारे हेडिंग को उस विषय से संबंधित बनाएं और सरल शब्दों में समझाएं।

9. आर्टिकल में लिस्ट का उपयोग करे

अपने आर्टिकल को आकर्षक बनाने और यूजर को इंगेज करने के लिए, किसी एक या दो सेटिंग में जहां पर आवश्यकता हो, लिस्ट बनाने की कोशिश करें। एक इस प्रकार की हेडिंग का उपयोग करें जिसमें लिस्ट बनाई जा सकती है। लिस्ट का उपयोग करने से यूजर को आर्टिकल पसंद आता है और सर्च इंजन भी हमारे आर्टिकल को उत्तम मानता है।

10. लिखने से पहले टॉपिक पर रिसर्च करे

जब आपको किसी विषय पर लिखने का निर्देश दिया गया हो, तो पहले लिखने से पहले गहरी रिसर्च करने का प्रयास करें। रिसर्च करने से हमें पता चलता है कि हमारे पूर्व प्रतियोगी क्या कर रहे हैं और हमें कैसे यूनिकता दिखाने में मदद मिल सकती है। इस प्रकार की गहरी रिसर्च करने से पहले हमें यह समझने में मदद मिलती है कि किस तरह की तैयारी हमें अपने लेख को अद्वितीय बनाने में मदद कर सकती है। लेख लिखने से पहले रिसर्च करना राइटर के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, इससे उन्हें बहुत सारी मदद मिल सकती है। इसलिए, किसी भी विषय पर लेख लिखने से पहले, गहरी रिसर्च एक महत्वपूर्ण कदम है।

11. इंफॉर्मेशन को एक्सप्लेन करने की कोशिश करे

जब आप किसी विषय पर आर्टिकल लिख रहे हो, तो आपको उस विषय पर विस्तृत जानकारी वाले आर्टिकल को तैयार करने का प्रयास करना चाहिए। अपने आर्टिकल को इनफॉर्मेटिव बनाने के लिए अधिक से अधिक हेडिंग का इस्तेमाल करें और हेडिंग में महत्वपूर्ण जानकारी को शामिल करें। इस प्रकार के आर्टिकल को तैयार करने से आपका आर्टिकल पूरी तरह से अनूठा बनेगा और सर्च इंजन में पहले से मौजूद नहीं होगा। आपके आर्टिकल को पढ़ने में भी यूजर को आसानी होगी और आपका क्लाइंट भी संतुष्ट रहेगा।

12. जो भी कीवर्ड लिखे उसे बोल्ड करे

जब कोई आर्टिकल राइटर या कंटेंट राइटर किसी विषय पर लेख रहा होता है, तो उसे अलग-अलग कीवर्ड को अपने आर्टिकल में शामिल करने का प्रयास करना चाहिए। ऐसा करने से आर्टिकल का महत्व बढ़ जाता है। जब भी आप अपने आर्टिकल में कोई कीवर्ड लिखें, तो उसे बोल्ड करें ताकि सर्च इंजन के साथ-साथ यूजर का भी ध्यान उस पर आकर्षित हो। इस प्रकार, आपकी आर्टिकल की गुणवत्ता बढ़ेगी और आपके क्लाइंट को भी आर्टिकल पसंद आएगा।

13. आर्टिकल लिखने के बाद रीड करे

बहुत सारे ऐसे राइटर देखे गए हैं जो आर्टिकल लिखने के बाद उसे पढ़ते नहीं हैं, जिसके कारण उनकी आर्टिकल में काफी गलतियाँ हो सकती हैं। एक अच्छा आर्टिकल राइटर वह होता है जो अपने लिखे गए आर्टिकल को ध्यानपूर्वक पढ़कर उसमें की गई गलतियों को पहचानता है और उन्हें सुधारता है। इससे न केवल उनका आर्टिकल गुणवत्तापूर्ण होता है, बल्कि उनकी राइटिंग कौशल में भी सुधार होती है।

राइटर बनने के बाद कितनी सैलरी होती है

फ्रीलांस राइटर बनकर आप आसानी से 1 महीने में ₹20,000 से ₹60,000 तक कमा सकते हैं।

सैलरी और पीपीडब्ल्यू में क्या अंतर है

जब राइटर को सैलरी पर रखा जाता है, तो उसे प्रत्येक महीने एक निश्चित राशि मिलती है। लेकिन अगर राइटर पीपीडब्ल्यू (प्रति शब्द लिखने का हिसाब) या पर लेखन का काम करता है, तो उसकी सैलरी निश्चित नहीं होती है। उसे अपने क्लाइंट के आवश्यकतानुसार प्रति 1000 शब्द के लिए ₹100 से ₹200 तक का चार्ज करने का विकल्प होता है। यानी कि 10 पैसे प्रति शब्द से लेकर 20 पैसे प्रति शब्द तक का चार्ज रख सकता है। जितना भी पीपीडब्ल्यू चार्ज होता है, उतनी ही उसकी कमाई होती है। इसलिए, सैलरी के मुकाबले पीपीडब्ल्यू में किसी राइटर की इनकम अधिक हो सकती है।

निष्कर्ष

इस महत्वपूर्ण लेख में हमने “राइटर कैसे बनें” के बारे में सरल शब्दों में सबसे अच्छी जानकारी प्रदान की है। हम आशा करते हैं कि इस लेख को पढ़ने के बाद आप बड़ी सरलता से राइटर बन जाएंगे और इस क्षेत्र में अपना करियर बना सकेंगे।

यदि आपको हमारी जानकारी पसंद आई हो तो कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर साझा करें। और अतिरिक्त जानकारी या सहायता के लिए कृपया नीचे दिए गए मुफ्त कमेंट बॉक्स का उपयोग करें।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *